chalak log shayari, chalak log quotes in hindi, दिखावटी लोग स्टेटस, चालाकियां स्टेटस, चालाकी पर अनमोल वचन, कुछ लोगों को लगता है उनकी चालाकियां, झूठे लोग शायरी in hindi, चतुराई पर शायरी, शातिर लोगों पर शायरी, छोटे लोग शायरी,

100+ Best chalak log shayari | चालाक लोग शायरी

चालक लोग जिंदगी में जहर घोल देते हैं। chalak log shayari उन कपटी लोगो के लिए जो जिंदगी में ना जाना क्यों कब, क्यों और कहा अपनी चालकियों से नरक बना देते हैं।


चालकियां जब घाटियांपने की सारी हदों को पार कर जाता है, तो इंसान और से तुत जाता है, रह जाता है उसका अकेलापन, जो इस्तेमाल अंदर ही अंदर इतना तोड़ देता है, कि इंसान न ही कुछ बोल पाता है ना समझ पाता है। जब यूज गलत लोगो की चालाकियों का पता चलता है तो यूज बहुत तकलीफ होती है।


क्या ब्लॉग पोस्ट में हमने कुछ बहुत ही कमाल चालक लोग शायरी शामिल की है। मुझे उम्मीद है आप सभी को ये चालक hindi quotes बहुत पसंद आएंगे। दोस्तों में अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल पर शेयर करना न भूले।

Also read

jhute log quotes

Dogle log quotes

चालाक लोग शायरी | chalak log shayari in hindi

नफरतों के ज़हर में चालाकियों के ढेरे है, जो तेरे मुँह पर तेरे और मेरे मुँह पर मेरे है.

Nafraton ke seher mein chalakiyon ke dhere hai, jo tere muh par tere aur mere muh par mere hai.

मुझे नहीं आती उड़ती पतंगों सी चालाकियां

Mujhe nahi aati udti patangon si chalakiyan

गले मिलकर गला काट दो, वो मंझा नहीं हु में..

Gale milkar gala kaat du, wo manjha nahi hu mein..

चालाकियां करनी नहीं आती हमें, लेकिन हां.. समझ सब आता है..

Chalakiyan karni nahi aati hume, lekin haa.. samajh sab aata hai..

Sad matlabi log

Gaddar dost shayari

चालाकी पर शायरी

कोन क्या है, सब जानता हु. बीएस.. नज़र में रख कर नज़रंदाज़ कर देता हु.

Kon kya hai, sab jaanta hu. Bs.. nazar mein rakh kar nazarandaaz kar deta hu.

मेरे साथ चालाकी से बुरा  करने वाले जरा ये सोच लेना की मेरी जरूरत तुम्हे दोबारा भी पड़ सकती है..

Mere saath chalaki se bura  karne waale jara ye soch lena ki meri jaroorat tumhe dobara bhi pad sakti hai..

चालाकियां नहीं आती हमें किसी को रिझाने की, हमारी सादगी पसंद आये तोह लौट आना…

Chalakiyan nahi aati hume kisi ko rijhane ki, humari saadgi pasand aaye toh laut aana…

मैंने दो तरह के लोगों से धोखा खाया है, एक जो मेरे अपने थे और दुसरे वो जो मेरे बहुत अपने थे..

Maine do tarah ke logon se dhaukha khaya hai, ek jo mere apne the aur dusre wo jo mere bahut apne the..

selfish matlbi dost shayri

chalak log quotes

कहने को तो सभी अपने थे, पर कोई नहीं है अपना, हमें मालूम नहीं था…

Kehne ko to sabhi apne the, par koi nahi hai apna, hume mallom nahi tha…

मतलबी जमाना है, चालाकियों का कहर है, ये दुनिया है साहब, दिखती सहद और पिलाती जहर है…

Matlabi jamana hai, chalakiyon ka kaher hai, ye duniya hai sahab, dikhati sahad aur pilaati jeher hai…

आखिर क्यों किसी से वफ़ा करे कोई, खुद चालाक हो तो क्या करे कोई…

Aakhir kyon kisi se vafa kare koi, khud chalak ho to kya kare koi…

कुछ लोगो को लगता है उनकी चालाकियां मुझे समझ नहीं आती..

Kuch logo ko lagta hai unki chalakiyan mujhe samajh nahi aati..

चालाक लोग शायरी in english

में बड़ी खामोशी से देखता हु चालाक लोगो को अपनी नज़रों से गिरते हुए.

Mein badi khamoshi se dekhta hu chalak logo ko apni nazaron se girte hue.

किसी का सरल स्वभाव उसकी कमजोरी नहीं होता है.. संसार में पानी से सरल कुछ भी नहीं हैं किन्तु उसका बहाव बड़ी से बड़ी चट्टान के भी टुकड़े कर देता है…

kisee ka saral svabhaav usakee kamajoree nahin hota hai.. sansaar mein paanee se saral kuchh bhee nahin hain kintu usaka bahaav badee se badee chattaan ke bhee tukade kar deta hai..

गिरगिट “खतरा” देखकर रंग बदलता है। और “इंसान” मौका देखकर

giragit “khatara” dekhakar rang badalata hai. aur “insaan” mauka dekhakar

न त्योहारों पर मिलते है, न मुसिबत पर मिलते है.. कुछ चालाक लोग मतलब होने पर मिलते है…

Na tayohaaron par milte hai, na musibat par milte hai.. kuch chalak log matlab hone par milte hai…

chalak log status

इतने बार दुश्मन नहीं कर पाते पीठ पर जितने दोस्त कर जाते हैं सच्ची दोस्ती की उम्मीद पर

itane baar dushman nahin kar paate peeth par jitane dost kar jaate hain sachchee dostee kee ummeed par

 

सच्चाई तो मैंने बस दुश्मनी के रिश्ते में देखी है दोस्ती तो हर जगह बस झूठी नजर आई है।

sachchaee to mainne bas dushmanee ke rishte mein dekhee hai dostee to har jagah bas jhoothee najar aaee hai.

जो दोस्त  थे मेरे ऐसा उनका कहना था असल में दुश्मनों ने दोस्ती का नकाब पहना था।

jo dost the mere aisa unaka kahana tha asal mein dushmanon ne dostee ka nakaab pahana tha.

कौन दोस्त है और कीन दुश्मन ये चेहरे या फिर बातें नहीं सिर्फ वक़्त बताता है।

kaun dost hai aur keen dushman ye chehare ya phir baaten nahin sirph vaqt bataata hai.

दोस्त की चालाकी शायरी

घटिया लोगो की सबसे बड़ी पहचान यह है की उन्हें आप जितनी ज्यादा इज्ज़त देंगे वो आपको उतनी ही ज्यादा तकलीफ देंगे

ghatiya logo kee sabase badee pahachaan yah hai kee unhen aap jitanee jyaada ijzat denge vo aapako utanee hee jyaada takaleeph denge

इंसान को घटिया या बेहतर उसके, कपड़े नहीं उसकी सोच बनाती है।

insaan ko ghatiya ya behatar usake, kapade nahin usakee soch banaatee hai.

लिबास कितना भी कीमती हो, घटिया किरदार  छुपाया नही जा सकता।

libaas kitana bhee keematee ho, ghatiya kiradaar  chhupaaya nahee ja sakata.

चाहे ओढ़ ले लाख लिबास इज़्ज़तदारी के,  घटियापन कभी छुपाए नहीं छुपता।

chaahe odh le laakh libaas izzatadaaree ke,  ghatiyaapan kabhee chhupae nahin chhupata.

तेरी चालाकियां शायरी |chalak log shayari in hindi

मुझको छोड़ने की वज़ह तो बता दे, मुझसे नाराज़ था या तू ही घटिया था।

mujhako chhodane kee vazah to bata de, mujhase naaraaz tha ya too hee ghatiya tha.

दोस्त बनकर जो धोखा दे, उससे ज्यादा घटिया कोई नहीं हो सकता।

dost banakar jo dhokha de, usase jyaada ghatiya koee nahin ho sakata.

जो दोस्त खुद को उठाने के लिए दोस्त को गिरा दे, उससे घटिया इंसान दूसरा और कोई नहीं।

jo dost khud ko uthaane ke lie dost ko gira de, usase ghatiya insaan doosara aur koee nahin।

किसी को नीचा दिखा कर जो खुद खुद को बड़ा दिखाता है, सही मायनों में उससे घटिया इंसान और कोई नहीं होता है।

kisee ko neecha dikha kar jo khud khud ko bada dikhaata hai, sahee maayanon mein usase ghatiya insaan aur koee nahin hota hai.

चालाक लोग शायरी in Hindi

घटिया इंसान की सोच ही नहीं आँखें भी खराब होती हैं, क्योंकि घटिया आदमी को हर आदमी घटिया नज़र आता है।

ghatiya insaan kee soch hee nahin aankhen bhee kharaab hotee hain, kyonki ghatiya aadamee ko har aadamee ghatiya nazar aata hai.

कुछ लोग इतने वाहियात और घटिया होते हैं, कि उन्हें हर शख़्स अपने जैसा ही नज़र आता है।

kuchh log itane vaahiyaat aur ghatiya hote hain, ki unhen har shakhs apane jaisa hee nazar aata hai.

घटिया तेरी सोच, उससे घटिया तेरी औक़ात है, हैवानियत है तुझमें, ना ही इंसानियत वाली बात है।

ghatiya teree soch, usase ghatiya teree auqaat hai, haivaaniyat hai tujhamen, na hee insaaniyat vaalee baat hai.

दुनिया इतनी घटिया है कि अगर इंसान गिर जाता है तो उसे उठाने नहीं अगर कोई मजबूर हो जाए, तो उसका फायदा उठाने वाले लाखों हैं।

duniya itanee ghatiya hai ki agar insaan gir jaata hai to use uthaane nahin agar koee majaboor ho jae, to usaka phaayada uthaane vaale laakhon hain.

स्वार्थी लोग शायरी

वो घटिया लोग होते हैं, जो ज़ख्मों पर नमक छिड़कते हैं! अपनी तो आदत है, सीधे ज़ख्म देने की।

vo ghatiya log hote hain, jo zakhmon par namak chhidakate hain! apanee to aadat hai, seedhe zakhm dene kee.

एक गन्दा रिश्ता जिंदगी खराब कर देता है, एक घटिया इंसान एक बदनामी करा देता है।

ek ganda rishta jindagee kharaab kar deta hai, ek ghatiya insaan ek badanaamee kara deta hai.

घटिया लोगों की एक खासियत होती है, वो आपके सामने आपकी जी हुजूरी करते हैं, और आपके पीठ पीछे आपकी बुराई करते हैं।

ghatiya logon kee ek khaasiyat hotee hai, vo aapake saamane aapakee jee hujooree karate hain, aur aapake peeth peechhe aapakee buraee karate hain.

घटिया इंसानों की फ़ितरत देखनी है, तो उनके अंदाज देखो, शुरूआत में मीठे बाद मे कड़वी जुबान ।

ghatiya insaanon kee fitarat dekhanee hai, to unake andaaj dekho, shurooaat mein meethe baad me kadavee jubaan .

घटिया आदमी कब तक पहचान छुपायेगा, मरना तुझे भी है तू भी ऊपर जायेगा। मतलब के लिए कितनो को सताएगा, घटिया इंसान कब तक तू खुद को बचाएगा।

ghatiya aadamee kab tak pahachaan chhupaayega, marana tujhe bhee hai too bhee oopar jaayega. matalab ke lie kitano ko sataega, ghatiya insaan kab tak too khud ko bachaega.

ghatiya log status

न कोई खुदा उसका न कोई भगवान होता है, इस दुनिया में घटिया इंसान होता है।

 
 
 
 
 

खुश हैं माँ-बाप को खफा कर के, कुछ लोग गर्व में जी रहे हैं घटिया पने की इन्तेहाँ कर के।

khush hain maan-baap ko khapha kar ke, kuchh log garv mein jee rahe hain ghatiya pane kee intehaan kar ke.

ना समझ सके ना समझा सके ख़ुद की ही बाते ना दोहरा सके, दोस्त वो घटिया थी, जिसकी कहानी बता न सके।

na samajh sake na samajha sake khud kee hee baate na dohara sake, dost vo ghatiya thee, jisakee kahaanee bata na sake.

पहचान तब तक नहीं होती, जब तक कोई नुकसान नहीं होता। घटिया इंसान का अपना कोई दीन-ओ-ईमान नहीं होता।

pahachaan tab tak nahin hotee, jab tak koee nukasaan nahin hota. ghatiy insaan ka apna koee deen-o-eemaan nahin hota.

इंसान को घटिया या बेहतर उसके कपड़े नहीं उसकी सोच बनाती है।

insaan ko ghatiya ya behatar usake kapade nahin usakee soch banaatee hai.

घटिया मानसिकता पर शायरी

जो खुद को उठाने के लिए दूसरों को गिरा दे उससे नीच ईसान दूसरा और कोई नहीं।

jo khud ko uthaane ke lie doosaron ko gira de usase neech eesaan doosara aur koee nahin।

आराम की नींद सो जाते है कई लोग दूसरों को झूठे ख्वाब •दिखा कर बीच मझदार में ही छोड़ जाते है कुछ लोग अपनी औकात दिखा कर ।

aaraam kee neend so jaate hai kaee log doosaron ko jhoothe khvaab •dikha kar beech majhadaar mein hee chhod jaate hai kuchh log apanee aukaat dikha kar 

शरीफ शराफत की वजह से चुप था. घटिया लोगों ने उसे गंगा समझ  लिया।

shareeph sharaaphat kee vajah se chup tha. ghatiya logon ne use ganga samajh  liya.

वो मदद की आड़ में एहसान जताते हैं, वो घटिया लोग खुद को इंसान बताते हैं।

vo madad kee aad mein ehasaan jataate hain, vo ghatiya log khud ko insaan bataate hain.

कुछ लोग हमारी ज़िन्दगी में बस हमारा जीना हराम करने आते हैं

kuchh log hamaaree zindagee mein bas hamaara jeena haraam karane aate hain

घटिया पने की अगर दुनिया होती,  घटिया लोगों की अपनी अलग ही दुनिया होती।

ghatiya pane kee agar duniya hotee,  ghatiya logon kee apanee alag hee duniya hotee.

घटिया रिश्तेदार शायरी

घटिया लोगों की गाड़ी घटियापन के पहियों पर ही चलती है नीयत एक बार को बदल भी पर उनकी फितरत नहीं बदलती है।

ghatiya logon kee gaadee ghatiyaapan ke pahiyon par hee chalatee hai neeyat ek baar ko badal bhee par unakee phitarat nahin badalatee hai.

दोगले लोग रहते है यहाँ मरने से रोकते है पर जीने भी नहीं देते।

dogale log rahate hai yahaan marane se rokate hai par jeene bhee nahin dete.

घटिया लोगो की सबसे बड़ी पहचान यह है की उन्हें आप जितनी ज्यादा इज्ज़त . वो आपको उतनी ही ज्यादा तकलीफ देंगे

ghatiya logo kee sabase badee pahachaan yah hai kee unhen aap jitanee jyaada ijzat . vo aapako utanee hee jyaada takaleeph denge

अगर घटिया लोगो की पहचान करनी है ना, तो बुरे वक्त में उन्हें जरूर याद वह खुद-ब-खुद अपनी पहचान बता देंगे |

agar ghatiya logo kee pahachaan karanee hai na, to bure vakt mein unhen jaroor yaad vah khud-ba-khud apanee pahachaan bata denge |

जिंदगी किसी की भी खराब नही होती.. बस घटिया लोग मिलकर खराब कर देते है ।

jindagee kisee kee bhee kharaab nahee hotee.. bas ghatiya log milakar kharaab kar dete hai .

मक्कार लोगों पर शायरी

कुछ घटिया लोगो के वजह से ही औरत की बफा भी बदनाम और मर्द की मोहब्बत भी

kuchh ghatiya logo ke vajah se hee aurat kee bapha bhee badanaam aur mard kee mohabbat bhee

सस्ती च्युइंगम और घटिया लोग शुरूआती दौर में बहुत मीठे लगते है |

 
 
 
 
 

मतलबी दुनिया में लोग अफसोस से कहते है की, कोई किसी का नही लेकिन कोई यह नही सोचता की हम किसके हुए !”

matalabee duniya mein log aphasos se kahate hai kee, koee kisee ka nahee lekin koee yah nahee sochata kee ham kisake hue !”

आज किसी के लिए कितनी भी अच्छा कर लो, घटिया मानसिकता के लोग उस अच्छाई में भी बुराई ही देखेंगे ।

aaj kisee ke lie kitanee bhee achchha kar lo, ghatiya maanasikata ke log us achchhaee mein bhee buraee hee dekhenge .

घटिया लोगो को ऐसे ही घटिया नही कहा जाता, क्यूंकि उनमें प्यार नही सिर्फ धोखे का जनून होता सच्चे दिखते है मगर धोखेबाजी ही उनके दिल का सूकून होता है ।

ghatiya logo ko aise hee ghatiya nahee kaha jaata, kyoonki unamen pyaar nahee sirph dhokhe ka janoon hota sachche dikhate hai magar dhokhebaajee hee unake dil ka sookoon hota hai .

कपटी लोगों पर शायरी

मुंह के आगे अलग और पीठ के पीछे अलंग बोलने वालो से हमेशा सोशल डिस्टेन्स बनाकर रखिए, ऐसे लोग करोनी से भी खतरनाक होते है ।

munh ke aage alag aur peeth ke peechhe alang bolane vaalo se hamesha soshal distens banaakar rakhie, aise log karonee se bhee khataranaak hote hai .

कौन दोस्त है और कीन दुश्मन ये चेहरे या फिर बातें नहीं सिर्फ वक़्त बताता है।

kaun dost hai aur keen dushman ye chehare ya phir baaten nahin sirph vaqt bataata hai.

वक़्त से पहले आजमा लो की वफ़ादार कौन है, वरना वक़्त बता देगा गद्दार कौन है..

Waqt se pehle aajma lo ki vafadaar kon hai, warna waqt bata dega gaddar kon hai..

जब अपनों में गद्दार पैदा हो जाए तब मैदान में शेर भी कुत्तो से हार जाता है..

Jab apno mein gaddar paida ho jaaye tab maidaan mein sher bhi kutto se haar jaata hai..

बेशर्म लोगों के लिए शायरी

मुह पर मीठी बातें और दिल में जहर रखते हैं, ऊपर मीठी बातें और अंदर से गद्दार है..

Muh par meethi baatein aur dil mein jeher rakhte hai, upar meethi baatein aur ander se gaddar hai..

रिश्ते कम ही सही लेकिन मजबूत हो, दोस्त कम हो लेकिन गद्दारों से दूर हो..

Rishte kam hi sahi lekin majboot ho, dost kam ho lekin gaddaro se dur ho..

जिंदगी बहुत हसीन है, अगर साथ चलने वाला गद्दार ना हो.

Zindagi bahut haseen hai, agar saath chalne waala gaddar na ho..

जब देखा अपने को करीब से तो हर चेहरे में एक चेहरा नजर आया।

Jab dekha apnin ko kareeb se to har chehre mein ek chehra nazar aaya.

गिरे हुए लोगों पर शायरी

गद्दार दोस्त से लाख बेहतर होता है खुला दुश्मन क्योंकी जब जब दुश्मन वार करता है तो पता होता है, लेकिन जब गद्दार वार करता है तो पता नहीं कब खंजर चला दे..

Gaddar dost se lakh behtar hota hai khula dushman kyonki jab jab dushman vaar karta hai toh pta hota hai, lekin jab gaddar vaar karta hai to pta nahi kab khanjar chala de..

मुझे तो उन लोगो से खौफ आता है, जो अपने के लिबास में गद्दार चुप है

Mujhe to un logo se khauf aata hai, jo apno ke libaas mein gaddar chupe hai..

छोटी सी जिंदगी बहुत सारे यार मिले कुछ गद्दार मिले कुछ वफादार मिले..

Chotti si zindagi bahut saare yaar mile kuch gaddar mile kuch vafadaar mile.. 

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *